Support For Sindhis: पाकिस्तान में सिंधियों के उत्पीड़न पर महेश जेठमलानी ने उठाई आवाज, कहा- हरसंभव मदद देंगे

 

 

नई दिल्ली: संसद द्वारा जम्मू-कश्मीर से जुड़े दो विधेयक पारित किए जाने के बाद से इसको लेकर तमाम प्रतिक्रियाएं सामने आ रही है। भाजपा सांसद महेश जेठमलानी ने कहा गुरुवार को पाकिस्तान में सिंधियों को उत्पीड़न या अत्याचार की स्थिति में सहायता का आश्वासन देते हुए केंद्र सरकार के समर्थन की बात की गई है। 

केंद्र से करेंगे गुजारिश सिंधियों को दें शरण- महेश जेठमलानी

पाकिस्तान में सिंधियों की स्थिति पर बोलते हुए भाजपा सांसद महेश जेठमलानी ने कहा कि केंद्र को अवगत कराया जाएगा कि पाकिस्तान में समुदाय के लोगों को उत्पीड़न का सामान करना पड़ता है, उन्हें शरण देने का विचार किया जाए। साथ ही उन्होंने कहा कि हम पाकिस्तान के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करेंगे। लेकिन अगर वहां कोई परेशानी में हैं या उन पर अत्याचार हो रहा है, तो हम सरकार को उन्हें शरणार्थी का दर्ज देने के लिए मनाने की कोशिश करेंगे।

सिंधियों की दुर्दशा को यूएन में उठाया था
सितंबर माह में सिंधी फाउंडेशन ने पाकिस्तान के सिंध प्रांत में सिंधियों की दुर्दशा के बारे में जागरूक करने के लिए जिनेवा में यूएन कार्यालय के सामने एक दिवसीय पोस्ट अभियान का आयोजन किया। यह अभियान स्विट्जरलैंड के जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के 54वें सत्र के दौरान आयोजित किया गया था।

हर कोई पाकिस्तान में नाखुश- मनावर लाघारी
सिंधी फाउंडेशन के कार्यकारी निदेशक मनावर लाघारी ने कहा कि संदेश बहुत स्पष्ट है। पाकिस्तान एक बाधा है। वहां कोई भी खुश नहीं है। चाहे वो सिंधी हो या बलूचिस्तान में रहने वाले लोग ही क्यों न हो। हर कोई वहां परेशान है। सभी उत्पीड़ित लोग पाकिस्तान से पीछा छुड़वाना चाहता है। हम इस मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र की देखरेख में जनमत संग्रह चाहते हैं। पाकिस्तान द्वारा जारी डेटा पर विश्वास नहीं करते हैं। हमारा स्पष्ट संदेश है कि हम संयुक्त राष्ट्र में इस मुद्दे को लेकर जनमत संग्रह चाहते हैं। 

 

 

 

 

 

 

 

Source link

Visits: 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!