असम में ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के दौरान लगे ‘मोदी-मोदी’, ‘जय श्री राम’ के नारे, राहुल गांधी ने दी Flying Kiss

 

कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ आज रविवार को असम में है. राहुल गांधी राज्य के सोनितपुर जिले से बस के जरिए गुजर रहे थे, लेकिन वहां पर बड़ी संख्या में मौजूद लोगों की ओर से मोदी-मोदी और जय श्री राम के नारे लगाए जा रहे थे. बड़ी संख्या में लोगों को देखते हुए उन्होंने बस को रुकवा दिया और वह लोगों से मिलने नीचे आ गए. बाद में वह बस में बैठकर लोगों को लगातार फ्लाइंग किस करते दिखे. बाद में नागांव में राहुल गांधी ने कहा कि वे चाहें जितने पोस्टर फाड़ लें हमें कोई फर्क नहीं पड़ने वाला.”

कांग्रेस के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर किए गए वीडियो पोस्ट में दिख रहा है कि राहुल गांधी बस से आगे बढ़ रहे हैं और उनकी सुरक्षा में जवान भी नीचे साथ चल रहे थे, लेकिन इस दौरान कई लोग बीजेपी और जय श्री राम के झंडे के साथ बस के करीब दिखाई दिए. ये लोग मोदी-मोदी और जय श्री राम के नारे भी लगा रहे थे.

मैं बस से आया तो वो लोग भाग गएः राहुल गांधी

असम के नागांव पहुंचने में वहां की जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा, “यहां से करीब 2-3 किमी पहले भारतीय जनता पार्टी के 20 से 25 कार्यकर्ता डंडा लेकर हमारी बस के सामने आ गए और जब मैं बस से बाहर आया तो वे भाग गए.” उन्होंने आगे कहा, “उन्हें लगता है कि कांग्रेस पार्टी BJP और RSS के लोगों से डर गई है, वे लोग सपना देख रहे हैं. वे जितना चाहें उतने पोस्टर फाड़ लें लेकिन हमें इससे कोई फर्क नहीं पड़ने वाला.”

राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा, “हमारी विचारधारा की लड़ाई है. हम किसी से नहीं डरते, हम न तो PM मोदी से डरते हैं और न ही यहां के मुख्यमंत्री (हिमंत बिस्वा सरमा) से डरते हैं.”

सबके लिए खुली है मोहब्बत की दुकानः कांग्रेस

बस रुकवाकर राहुल गांधी नीचे उतरे. फिर थोड़ी देर बाद वह बस में वापस आ गए और नारे लगाने वालों को लगातार फ्लाइंग किस करते रहे. कांग्रेस ने यह वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, ‘सबके लिए खुली है मोहब्बत की दुकान, जुड़ेगा भारत, जीतेगा हिंदुस्तान.’

डेढ़ लाख युवाओं का सपना तोड़ाः राहुल गांधी

कांग्रेस नेता ने केंद्र पर हमला करते हुए कहा, “मेरे पास 4 युवा आए और कहा कि हमारे जैसे करीब 1,50,000 युवा हैं, हमने क्या अपराध किया? उन्होंने बताया कि डेढ़ लाख युवाओं ने सेना में शामिल होने की कोशिश की, उन्होंने इसके लिए परीक्षा दी, फिर फीजिकल और मेडिकल टेस्ट सब हुआ. मोदी सरकार ने उन्हें लिखा कि उन्हें सेना के लिए चुन लिया गया है, लेकिन कोरोना आ गया और उन्हें इंतजार करने के लिए कहा गया. उनसे यह कहा गया कि उन्हें कोरोना खत्म होने के बाद भर्ती कर लिया जाएगा.

उन्होंने आगे कहा कि सरकार ने इन डेढ़ लाख युवाओं को 3 साल तक इंतजार कराया. फिर 3 साल के इंतजार के बाद उन्हें बताया गया कि उन्हें सेना में भर्ती नहीं किया जाएगा. साथ ही वे अग्निवीर भी नहीं बन सकते. इन युवाओं का सेना में शामिल होने का सपना था.”

मणिपुर हिंसा का जिक्र करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मणिपुर जल रहा है, देश का पीएम आज तक वहां नहीं गया. पीएम अगर सेना को आर्डर देते तो 3 दिन में ही यहां पर शांति आ जाती. अगर कांग्रेस का प्रधानमंत्री होता तो वो 3 दिन में ही वहां जाते और चौथे दिन शांति हो जाती.

 

 

 

 

 

 

 

Source link

Visits: 9

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!