कितना खतरनाक है Corona Sub-Variant JN.1? WHO ने बताया ‘वेरिएंट ऑफ इंटरेस्ट’

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मंगलवार को JN-1 कोरोना वायरस स्ट्रेन को ‘वेरिएंट ऑफ इंटरेस्ट’ के रूप में क्लासिफाइड किया. हालांकि, इसमें कहा गया है कि वैरिएंट से स्वास्थ्य के लिए ज्यादा खतरा नहीं है. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि उपलब्ध साक्ष्यों के आधार पर, जेएन-1 से होने वाले एडिशनल ग्लोबल पब्लिक हेल्थ रिस्क को वर्तमान में कम माना गया है.

JN-1 को पहले इसके मूल वंश BA-2-86 के एक भाग के रूप में ‘वेरिएंट ऑफ इंटरेस्ट’ के रूप में क्लासिफाइड किया गया था. संयुक्त राष्ट्र एजेंसी ने कहा कि मौजूदा टीके जेएन-1 और सीओवीआईडी-19 वायरस के अन्य सर्कुलेटिंग वेरिएंट से होने वाली गंभीर बीमारी और मौत से बचाते हैं. यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि एजेंसी के नवीनतम अनुमानों के अनुसार, 8 दिसंबर तक अमेरिका में सबवेरिएंट जेएन-1 अनुमानित 15% से 29% मामलों का कारण बना है.

COVID सबवेरिएंट के सात संक्रमण

इसमें कहा गया है कि वर्तमान में इस बात का कोई सबूत नहीं है कि JN-1 वर्तमान में प्रसारित अन्य वेरिएंट की तुलना में सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए एक बड़ा जोखिम है और वैक्सीन अमेरिकियों को वेरिएंट के खिलाफ सुरक्षित रख सकती है. सीडीसी के अनुसार, जेएन-1 का पहली बार सितंबर में अमेरिका में पता चला था. पिछले हफ्ते, चीन ने COVID सबवेरिएंट के सात संक्रमणों का पता लगाया.

आठ दिसंबर को केरल में आया पहला केस

भारत में जेएन.1 का पहला मामला आठ दिसंबर को केरल की एक महिला से लिए गए नमूने में पाया गया था, जिसे हल्के लक्षण थे. तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली जिले का एक यात्री सिंगापुर में जेएन-1 से संक्रमित पाया गया था. वहीं देश में कोविड-19 के मामलों में हालिया बढ़ोतरी के बीच दिल्ली में डॉक्टरों ने लोगों को मास्क पहनने, भीड़भाड़ से बचने और स्वस्थ आहार लेने की सलाह दी है.

कोरोना संक्रमण के 288 नए मामले

जानकारी के मुताबिक देश में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 288 नए मामले सामने आए. वहीं मरीजों की संख्या बढ़कर 1,970 हो गयी. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार, मृतकों की संख्या बढ़कर 5,33,318 हो गयी है जबकि देश में कोविड-19 के कुल मामलों की संख्या 4.50 करोड़ (4,50,05,364) है. आंकड़ों के अनुसार, इस बीमारी से ठीक वाले लोगों की संख्या बढ़कर 4,44,70,076 हो गयी है और स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर 98.81 प्रतिशत है. संक्रमण से जान गंवाने की दर 1.19 फीसदी है.

स्वास्थ्य से जुड़ी तैयारियों की समीक्षा आज

मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, देश में अभी कोविड-19 रोधी टीकाकरण अभियान के तहत 220.67 करोड़ खुराक दी गयी हैं. सरकार के सूत्रों के मुताबिक, कुछ राज्यों में कोविड सहित सांस संबंधी बीमारी के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया आज स्वास्थ्य सुविधाओं और सेवाओं की तैयारियों की समीक्षा करेंगे.

 

 

 

 

 

 

 

Source link

Visits: 4

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!