रामलला मूर्ति की खुली आंखों वाली तस्वीर आखिर लीक कैसे हो गई? गुस्से में मुख्य पुजारी, मंदिर ट्रस्ट लेगा ऐक्शन!

 

अयोध्या: अयोध्या में रामलला (Ramlala Ayodhya) के भव्य उत्सव की तैयारी है। लेकिन इससे पहले ही रामलला की नवनिर्मित मूर्ति की खुली आंखों वाली तस्वीर वायरल हो गई। ‘प्राण प्रतिष्ठा’ समारोह से तीन दिन पहले शुक्रवार को अनावरण किया गया। काले पत्थर से बनी इस प्रतिमा की आंख पर पीले रंग के कपड़ा बंधा है। इसी मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा होनी है। लेकिन खुली आंखों वाली मूर्ति की फोटो वायरल हो जाने से संत समाज में रोष है। रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येन्द्र दास ने मामले पर सख्त ऐक्शन की मांग की है।

रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येन्द्र दास ने कहा कि प्राण प्रतिष्ठा के पूरा होने से पहले भगवान राम की मूर्ति की आंखें प्रकट नहीं की जा सकतीं हैं। सोशल मीडिया पर वायरल मूर्ति की तस्वीरों में, भगवान राम की आंखें दिख रही हैं। अगर आंखें देखी जा सकती हैं तो आंखें किसने दिखाईं और मूर्ति की तस्वीरें सोशल मीडिया पर कैसे वायरल हो रही हैं? इसकी जांच की जानी चाहिए।

मंदिर ट्रस्ट सख्त ऐक्शन की तैयारी में
विश्व हिंदू परिषद और राम मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने ऐसी कोई भी तस्वीर जारी करने से इनकार किया है। मूर्ति की फोटो लीक होने से अफसरों में हड़कंप मच गया है। श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने सख्त ऐक्शन लिए जाने की मांग की है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मंदिर के निर्माण और डिजाइन में लगी कंपनी के किसी कर्मचारी, अधिकारी या किसी मजदूर की तरफ से फोटो खींचकर वायरल की गई है।

मूर्ति की आंखों पर पीला कपड़ा बंधा है
विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के पदाधिकारी शरद शर्मा ने बताया कि रामलला की प्रतिमा की आंखों पर पीला रंग का कपड़ा बंधा है और प्रतिमा को गुलाब के फूलों की माला पहनायी गई है। विश्व हिंदू परिषद ने रामलला की प्रतिमा की तस्वीर जारी की और यह प्रतिमा खड़ी मुद्रा में है। अयोध्या स्थित राममंदिर में आगामी 22 जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले भगवान राम की नयी प्रतिमा बृहस्पतिवार अपराह्न में राम जन्मभूमि मंदिर के गर्भगृह में रखी गई।

मैसूरु के मूर्तिकार अरुण योगीराज द्वारा बनाई गई 51 इंच की रामलला की प्रतिमा को मंदिर में लाया गया था। भगवान राम की प्रतिमा को अपराह्न में वैदिक मंत्रोचार के बीच गर्भगृह में रखा गया। यजमान द्वारा प्रधान संकल्प होने पर वेदमन्त्रों की ध्वनि से वातावरण मंगलमय हुआ। मूर्ति के जलाधिवास तक के कार्य बृहस्पतिवार को संपन्न हुए।’शुक्रवार को प्रातः नौ बजे अरणिमन्थन से अग्नि प्रकट हुई।

पीएम मोदी ‘प्राण प्रतिष्ठा’ में शामिल होंगे
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 जनवरी को मंदिर में ‘प्राण प्रतिष्ठा’ समारोह में शामिल होंगे, जिसके अगले दिन मंदिर जनता के लिए खोले जाने की उम्मीद है। मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह के अनुष्ठान पहले ही शुरू हो चुके हैं। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सोमवार को यहां संवाददाताओं से कहा था कि प्राण प्रतिष्ठा समारोह दोपहर 12:20 बजे शुरू होगा और 22 जनवरी को दोपहर 1 बजे तक पूरा होने की उम्मीद है। मंदिर में प्रतिष्ठा समारोह से पहले अनुष्ठान शुरू हो चुके हैं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Source link

Visits: 4

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!