Kannauj में पुलिस टीम पर हमले में घायल सिपाही सचिन राठी की मौत, कानपुर में चल रहा था इलाज, आरोपी का एनकाउंटर

कन्नौज: उत्तर प्रदेश के कन्नौज में हिस्ट्रीशीटर को गिरफ्तार करने गई पुलिस टीम पर हमले में घायल सिपाही की मौत हो गई है। कानपुर में इलाज कर रहे सिपाही की इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। दरअसल, कन्नौज पुलिस की टीम विशुनगढ़ थाना क्षेत्र के धरनीधीरपुर नगरिया गांव में हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तारी के लिए पहुंची थी। इसी दौरान पुलिस टीम पर हिस्ट्रीशीटर ने फायरिंग कर दी। उसके इस हमले में विशुनगढ़ थाने का सिपाही सचिन राठी गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे इलाज के लिए कानपुर भेजा गया है। इस घटना के करीब तीन घंटे बाद पुलिस से मुठभेड़ में हिस्ट्रीशीटर और उसका बेटा भी घायल हो गया। पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर की पूर्व प्रधान पत्नी को गिरफ्तार कर लिया। मौके पर पुलिस की टीम की तैनाती की गई है।

एसपी अमित कुमार आनंद ने इस घटना के संबंध में बताया कि विशुनगढ़ थाना क्षेत्र के गांव धरनीधीरपुर नगरिया निवासी अशोक उर्फ मुनुआ उर्फ मुन्ना पुत्र रामनरेश यादव के खिलाफ साल 2009 में छिबरामऊ कोतवाली में एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज किया था। जमानत के बाद से आरोपी फरार चल रहा था। कोर्ट की ओर से जारी वारंट के आधार पर सोमवार की शाम करीब पांच बजे छिबरामऊ कोतवाल जितेंद्र सिंह और विशुनगढ़ थानाध्यक्ष पारुल चौधरी पुलिस टीम के साथ आरोपी की गिरफ्तारी के लिए गांव पहुंचे। आरोपी ने पुलिस को घर के पास देखते ही फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग शुरू होते ही पुलिस ने मोर्चा संभाला।

जांघ को चीरते हुए निकली थी गोली

एनकाउंटर शुरू होने के बाद गुरसहायगंज, सौरिख, तालग्राम, सकरावा थानों की पुलिस और दो पलाटून पीएसी को मौके पर बुलाया गया। पुलिस को दहशत में रखने के लिए आरोपी की ओर से कई राउंड फायरिंग की। इसी फायरिंग में विशुनगढ़ थाने में तैनात सिपाही सचिन राठी की जांघ में गोली लगी। गोली जांघ को चीरते हुए पार कर गई थी। घायल सिपाही को तत्काल छिबरामऊ अस्पताल ले जाया गया। वहां हालात नाजुक देखते हुए कानपुर रेफर किया गया। कानपुर में इलाज के दौरान मंगलवार सुबह सिपाही की मौत हो गई।

आरोपी ने भागने का किया प्रयास

पुलिस को आरोपियों ने इस दौरान भटकाने का प्रयास किया। सिपाही को पहले छिबरामऊ के सौ शैय्या अस्पताल ले जाया गया। वहां से नाजुक हालत में कानपुर के लिए रेफर कर दिया गया। अंधेरा होने पर आरोपी अशोक अपनी पत्नी श्यामा देवी और बेटे अभय यादव उर्फ टिंकू के साथ फायरिंग करते हुए भागने का प्रयास करने लगा। घर से 20 मीटर दूरी पर पुलिस टीम ने एनकाउंटर के बाद तीनों को पकड़ लिया। जवाबी फायरिंग में हिस्ट्रीशीटर अशोक उर्फ मुनुआ और उसके बेटे टिंकू के पैर में गोली लगी है। घायलावस्था में दोनों को छिबरामऊ अस्पताल में भर्ती कराया गया। दोनों को प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर स्थिति में राजकीय मेडिकल कॉलेज तिर्वा रेफर कर किया गया।

 

 

 

 

 

 

 

 

Source link

Visits: 5

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!