Ayodhya Ram Mandir: ‘उनकी बेटी और दामाद अपने घर में प्रवेश कर रहे हैं’ बोले नेपाल के Deputy PM, जनकपुर में कई आयोजन

Events Held in Janakpur Nepal: अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह (Ayodhya Ram Mandir Pran Pratishtha) से पहले नेपाल के जनकपुर (Janakpur Nepal) में कई सांस्कृतिक और धार्मिक कार्यक्रमों के साथ उत्सव मनाया जाएगा। जनकपुर को भगवान राम की पत्नी सीता का जन्मस्थान माना जाता है, सीता का दूसरा नाम जानकी है, जो जनकपुर के राजा जनक की पुत्री थीं।

जानकी मंदिर

जनकपुर काठमांडू से 220 किलोमीटर दक्षिणपूर्व और अयोध्या से लगभग 500 किलोमीटर पूर्व में स्थित है गौर हो कि जनकपुर का नाम राजा जनक नाम पर पड़ा है, जो माता सीता के पिता हैं।

नेपाल के पूर्व उपप्रधानमंत्री बिमलेंद्र निधि ने शनिवार को कहा, ‘हमारी बेटी, माता जानकी का विवाह भगवान श्री राम से हुआ था। हम बहुत उत्साहित हैं कि अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह होगा। भारत के उच्चतम न्यायालय ने (अयोध्या मामले में) जब अपना अंतिम फैसला सुनाया तो जनकपुर के लोग बहुत खुश थे।’

‘भारत और नेपाल के बीच रोटी-बेटी का संबंध’

नेपाल कांग्रेस के सदस्य निधि बोले- ‘नेपाल के साथ भारत का गहरा सांस्कृतिक, भौगोलिक और राजनीतिक जुड़ाव है, भारत और नेपाल के बीच रोटी-बेटी का संबंध है जनकपुर के लोगों के लिए श्रीराम सिर्फ देवता नहीं हैं, भगवान राम उनके दामाद भी हैं, हम खुश हैं कि उनकी बेटी और दामाद अपने घर में प्रवेश कर रहे हैं।’

जानकी मंदिर में 1,25,000 दीप जलाए जाएंगे

जनकपुर के धनुषा विधायक बोले ‘अयोध्या राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर उनके शहर के प्रत्येक राम और सीता मंदिर में धार्मिक सभाएं होंगी रामायण पर आधारित कई स्टेज शो आयोजित किए जाएंगे वहीं जानकी मंदिर में 1,25,000 दीप जलाए जाएंगे और भगवान राम और माता सीता की शानदार आरती होगी।’

Visits: 6

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!