कानून बनने के बाद भी नहीं रुक रही मॉब लिंचिंग, बंगाल में गाय चोरी के आरोप में 2 को पीट-पीटकर मार डाला

 

कोलकाता : केंद्र सरकार द्वारा क्रिमिनल लॉ में संशोधन के दो दिन के अंदर ही पश्चिम बंगाल में मॉब लिंचिंग की बड़ी घटना घटी है. पश्चिम बंगाल के बर्दवान जिले के जमालपुर में गाय चोरी करने के आरोप में उत्तेजित भीड़ ने दो लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी. बता दें कि संसद में क्रिमिनल लॉ में संशोधन विधेयक पारित किया गया है. इस विधेयक में मॉब लिंचिंग के लिए मौत की सजा का प्रावधान किया गया है. इस कानून के संसद के पास होने के कुछ ही दिन के अंदर बंगाल में यह दिलदहलाने वाली घटना घटी है.

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से गांव में एक के बाद एक गाय चोरी की घटना हो रही थी. गौशाला से गाएं चोरी हो रही थीं. खबर स्थानीय थाने में दी गई थी, लेकिन स्थानीय लोगों को यह पता नहीं चल सका कि यह चोरी कौन कर रहा था या गायों के साथ क्या कर रहे थे.

घटना शनिवार देर रात की है. स्थानीय निवासियों ने गाय चोरों को रंगे हाथों पकड़ लिया. फिर उनकी जमकर पिटाई कर दी.उस पिटाई से दो लोगों की मौत हो गई. यह सनसनीखेज घटना पूर्वी बर्दवान जिले के जमालपुर ब्लॉक के तुरुक-मैना गांव में हुई.

गांव में गायों की चोरी से लोग थे नाराज

स्थानीय सूत्रों के मुताबिक, उस इलाके में कई दिनों से एक के बाद एक गायें चोरी हो रही थीं, जिसे लेकर कुछ ग्रामीण नाराज थे. उन्होंने जमालपुर थाने में शिकायत भी दर्ज कराई.

इसके बाद शनिवार रात को करीब डेढ़ बजे 407 पिकअप वैन से पांच लोग गांव आए. ग्रामीणों का दावा है कि वे लोग एक स्थानीय निवासी की पशुशाला के दरवाजे का ताला तोड़ने की कोशिश कर रहे थे. उस समय कुछ लोगों ने ताड़ा तोड़ते हुए देख लिया.

इसके बाद उत्तेजित भीड़ ने पांचों लोगों को चोर समझकर उनका पीछा किया, लेकिन तीन लोग भाग निकले. लेकिन दोनों एक तालाब के पानी में कूद गया. उत्तेजित भीड़ ने उस तालाब को भी घेर लिया. फिर उन्होंने उसे तालाब से बाहर निकाला और गाय चोर होने के संदेह में उसकी पिटाई की.

सूचना पाकर जमालपुर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची. गंभीर रूप से घायल दो लोगों को मेमोरी अस्पताल ले जाया गया. बाद में उन्हें बर्दवान मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया, जहां सुबह उनकी मौत हो गई. घटना के बाद इलाके में पुलिस का पहरा है.

आधी रात को चोरों को पकड़ा और पीट-पीटकर मार डाला

इलाके के निवासी नानू क्षेत्रवाल ने कहा, ”नौ महीने में पांच मवेशी चोरी हो चुके हैं. इसलिए हम सावधान थे. तभी आधी रात को यह घटना घटी. एक व्यक्ति बाथरूम जाने के लिए उठा. उसी समय उसने कुछ लोगों को गौशाल का ताला तोड़ते हुए देखा. वे शो मचाने लगे. शोरशराबा सुनकर तीन लोग भाग गये. और दो तालाब के पानी में कूद गये, फिर डेढ़ दो हजार ग्रामीणों ने तालाब को घेर लिया और उन्हें बाहर निकाला और उनकी जमकर पिटाई कर दी.

जमालपुर थाने की पुलिस घटना की जांच में जुट गयी पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इस हत्याकांड में कौन शामिल है साथ ही मृतक की पहचान जानने का प्रयास किया जा रहा है.

 

 

 

 

 

 

Source link

Visits: 0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!