महराजगंज समाचार: पशु तस्करों के खिलाफ पुलिस ने दर्ज किया केस

महराजगंज: शहर के मुख्य सक्सेना चौराहे पर सोमवार की रात मुठभेड़ व फायरिंग के मामले में तीनों पशु तस्करों के खिलाफ पुलिस कर्मियों की हत्या के प्रयास समेत कई धाराओं में केस दर्ज किया गया है। नगर चौकी इंचार्ज अंकित सिंह की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने बिहार के पश्चिमी चम्पारण जिले के रहने वाले तीन पशु तस्कर रूस्तम, लाल बहादुर व शाह आलम के खिलाफ धारा 307, 504, 506, 34 आईपीसी, 3/25 आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। मुख्य आरोपी रूस्तम जिले का वांछित था और इस पर 25 हजार रुपये का इनाम भी घोषित था।

मुठभेड़ में साथियों के साथ गिरफ्तार रूस्तम पुरन्दरपुर थाने का वांटेड है। पुलिस टीम उसकी गिरफ्तारी में लगी हुई थी। सोमवार को पुलिस टीम को सूचना मिली कि रूस्तम अपने साथियों के साथ महराजगंज जिले में पशु तस्करी के लिए आने वाला है। इस सूचना पर एसपी सोमेन्द्र मीना के निर्देश पर पुलिस की चार टीम लगाई गई। तीन टीम एसओजी प्रभारी महेन्द्र यादव, स्वाट प्रभारी योगेश सिंह, सर्विलांस सेल प्रभारी उमेश यादव मयफोर्स भिटौली थाना क्षेत्र के धर्मपुर पहुंच गए। मुखबिर से सूचना मिली कि घुघली से ग्रामीण क्षेत्र के रास्ते से वांटेड पशु तस्कर रूस्तम अपने साथियों के साथ पिकअप से धर्मपुर पहुंच वहां से महराजगंज की ओर जाएगा।

धर्मपुर से ही पीछे पड़ गईं पुलिस टीमें

धर्मपुर में जैसे ही रूस्तम की गाड़ी दिखी वैसे ही एसओजी, स्वाट व सर्विलांस सेल पीछा करने लगी। शिकारपुर व महराजगंज कोतवाली के नगर चौकी के सामने पशु तस्करों की घेराबंदी शुरू हुई। चौथी टीम नगर चौकी इंचार्ज अंकित सिंह के नेतृत्व में पुलिस कर्मियों ने मुख्य चौराहा पर ट्रक लगाकर रास्ते को अवरुद्ध कर दिया। इसके बाद तस्कर जैसे ही शिकारपुर के आगे बढ़े उनको अंदेशा हो गया कि पुलिस टीम पीछा कर रही है। महराजगंज हनुमानगढ़ी चौराहा से पशु तस्करों ने पिकअप को पड़री रोड पर मोड़ने का प्रयास किया, लेकिन उधर से एक बस आ गई। इसके बाद तस्कर गाड़ी लेकर नगर चौराहा की तरफ बढ़े। मुख्य चौराहे पर ट्रक से रास्ता रोका देख तस्करों ने गाड़ी तेजी से बैक कर मुड़ना चाहा, लेकिन पिकअप का पिछला पहिया सड़क के किनारे नाला में फंस गया। इसके बाद तस्करों ने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू दी। पुलिस भी जवाबी फायरिंग शुरू करते हुए पिकअप को घेर ली। तीन तस्करों को गिरफ्तार कर लिया गया। भागने के प्रयास में दो तस्कर घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। इस मामले में कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक आनंद गुप्ता ने बताया कि नगर चौकी इंचार्ज अंकित सिंह की तहरीर पर पुलिस टीम पर फायरिंग करने वाले आरोपित रूस्तम, लाल बहादुर व शाह मोहम्मद के खिलाफ 307, 504, 506, 34 आईपीसी, 3/25 आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। यह तीनों आरोपित बिहार के पश्चिमी चम्पारण जिला के ग्राम दहवा वासी थाना धनहा के रहने वाले हैं।

मुठभेड़ की सूचना पर कई थानों की टीम पहुंची

महराजगंज मेन चौराहे पर पशु तस्करों व पुलिस के बीच मुठभेड़ की सूचना पूरे जिले में आग की तरह फैल गई। कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक आनंद गुप्ता, एसओ नीरज राय, पुरन्दरपुर थानाध्यक्ष पुरूषोत्तम राव फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे। एसओजी प्रभारी महेन्द्र सिंह, स्वाट प्रभारी योगेश सिंह, सर्विलांस सेल प्रभारी उमेश यादव, नगर चौकी इंचार्ज अंकित सिंह तीनों पशु तस्करों को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। इलाज के बाद देर रात तक विधिक कार्रवाई होती रही।

नेबुआ नौरंगिया में 12 लोगों को कुचला था, छह की गई थी जान

मुख्य आरोपी रूस्तम पर आरोप है कि फरवरी 2017 में डायल 100 पुलिस के पीछा करने पर कुशीनगर के नेबुआ नौरंगिया में बारात जा रहे लोगों को पिकअप से कुचलते हुए फरार हुआ था। इस हादसे में छह लोगों की मौत हुई थी और छह घायल हुए थे। इस मामले में नेबुआ नौरंगिया पुलिस ने वादी राम अवध यादव की तहरीर पर केस दर्ज की थी। इस घटना में रूस्तम का नाम जांच में सामने आया था और विवेचना में उसका नाम बढ़ा था। जिस जगह घटना हुई थी, वहां ब्रेकर बना है जिसको रूस्तम ब्रेकर भी कहा जाने लगा था।

 

 

 

 

 

 

Source link

Visits: 10

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!