बस्ती समाचार: गोटवा बाजार में सील अवैध आरा मशीन को रात में चलाने का वन रक्षक आनन्द प्रताप सिंह ने दिया आदेश – सूत्र

सरताज आलम की रिपोर्ट-

 

 

 

बस्ती/गोटवा बाजार : बस्ती सदर विकासखण्ड में तैनात वन रक्षक आनन्द प्रताप सिंह तेज तर्रार नवागत डीएफओं की छवि धूमिल करने में जुटे हुए हैं । नवागत डीएफओ ने पूरे जिले में संचालित अवैध आरा मशीनों को बन्द कराने का निर्देश दिया है । जिले में काफी अवैध आरा मशीन वर्तमान समय में बन्द भी है ।

गोटवा बाजार के उत्तर दिशा में किसान इण्टर कालेज के पीछे 25 वर्षों से वन विभाग बस्ती सदर एवं फुटहिया चौकी प्रभारी की मिलीभगत से अवैध आरा मशीन चल रही थी । दिनांक 25 – 12 – 2023 को सोशल मीडिया / सम्मानित समाचार पत्रों में अवैध आरा मशीन चलने की खबर प्रकाशित होने के बाद तेज तर्रार डीएफओं के निर्देश पर आनन – फानन में उड़ाका दल ( वन सुरक्षा अधिकारी ) द्वारा गोटवा बाजार में 25 वर्षों से चल रही अवैध आरा मशीन को सील कर दिया गया था और भविष्य में अवैध आरा मशीन मालिक को अवैध आरा मशीन संचालित न करने का निर्देश दिया था ।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार वन रक्षक आनन्द प्रताप सिंह ने गोटवा बाजार में सील अवैध आरा मशीन को सुबह- शाम या रात में अर्थात सुबह 10 बजे से पहले संचालन करने का आदेश दिया है । और सील अवैध आरा मशीन सुबह – शाम या रात में अर्थात् सुबह 10 पहले के पहले चल रही है एवं बाहर से पन्नी बांध दिया गया है कि रास्ते से जाने वाले यात्री / अन्य कोई अधिकारी / कर्मचारी देखें तो पता चले कि सील अवैध आरा मशीन बन्द है ।

मीडिया टीम के भ्रमण में अवैध आरा मशीन के आसपास के लोगों ने कहा कि वन रक्षक आनन्द प्रताप सिंह एवं फुटहिया चौकी प्रभारी के आदेश पर अवैध आरा मशीन सुबह 10 बजे के पहले चलती है और दिन में बन्द रहता है क्योंकि अवैध आरा मशीन संचालक स्वयं लकड़ी चीरने का मिस्त्री है जब चाहता है तब लकड़ी को चीर लेता है चाहे रात हो या दिन । भ्रष्ट वन विभाग के अधिकारियों एवं फुटहिया चौकी प्रभारी के सहयोग से लगातार 25 वर्षों से संचालित अवैध आरा मशीन पर कार्रवाई होना वन विभाग के लिए चुनौती है । इस सम्बंध में डीएफओं ने बताया कि गोटवा बाजार में अवैध आरा मशीन को सील कराया गया था यदि रात – दिन में संचालन हो रहा है तो जांच कर कड़ी कार्रवाई होगी ।

Visits: 12

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!