किन्हें होता है स्ट्रोक का सबसे ज्यादा खतरा! ब्लड ग्रुप से चलेगा पता, अध्ययन में खुलासा

दुनियाभर में स्ट्रोक के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. लोगों को छोटी उम्र में ही ये इस गंभीर बीमारी का सामना करना पड़ता है. एक नई स्टडी सामने आई है, जिसके मुताबिक 60 से पहले स्ट्रोक अगर स्ट्रोक आता है, तो इसे ब्लड ग्रुप से पता लगाया जा सकता है. अब आप सोच रहे होंगे कि स्ट्रोक का खतरा ब्लड ग्रुप कैसे बता सकता है. इस आर्टिकल में हम आपको ब्लड ग्रुप और स्ट्रोक से जुड़े अध्ययन की कुछ जरूरी जानकारियां बताने जा रहे हैं.

कितने तरह के होते हैं ब्लड ग्रुप

कहा जाता है कि बल्ड के मेन टाइप होते हैं और इसमें A, B, AB और O का नाम मुख्य है. एक व्यक्ति का ब्लड ग्रुप उसके माता-पिता से मिल जीन से निर्धारित होता है.

ब्लड ग्रुप और स्ट्रोक की स्टडी क्या कहती है

दरअसल, इस स्टडी को अमेरिका, एशिया और यूरोप के लोगों पर किया गया. इसमें 16927 स्ट्रोक वाले और 576353 बिना स्ट्रोक वाले शामिल थे. स्टडी के मुताबिक इनमें से 5825 अर्ली ऑनसेट स्ट्रोक यानी 60 की उम्र से पहले बीमारी का शिकार बने. वहीं 9269 को 60 की उम्र के बाद स्ट्रोक आया.

किसे ज्यादा होता है स्ट्रोक का खतरा

अन्य ब्लड ग्रुप वाले लोगों की तुलना में, शोधकर्ताओं ने पाया कि टाइप ए ब्लड ग्रुप वाले लोगों में 60 साल की उम्र से पहले स्ट्रोक से पीड़ित होने की संभावना अधिक होती है. शोधकर्ताओं ने यह भी पाया कि जीनोमिक स्टडी में A1 सब ग्रुप और अर्ली ऑनसेट स्ट्रोक में जीन का साफ तरीके से संबंध का पता चला.

ये भी पढ़े-  लिवर के ठप होने से बनता है कोलेस्ट्रॉल, ये एक्सरसाइज छानकर निकाल देगी गंदा पदार्थ

क्या कहते हैं एक्सपर्ट

शोधकर्ताओं का कहना है कि हमें अभी पता नहीं चल पाया है कि क्यों ब्लड ग्रुप ए वालों को स्ट्रोक का खतरा ज्यादा क्यों है. वैसे इसका संबंध ब्लड क्लॉटिंग फैक्टर जैसे प्लेटलेट्स और सेल्स से जुड़ा हुआ है.बाल्टीमोर में यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड स्कूल ऑफ मेडिसिन के अध्ययन लेखक ब्रेक्सटन डी. मिशेल का कहना है कि ए ब्लड ग्रुप वालों के शरीर में ब्लड क्लॉट होने का खतरा ज्यादा रहता है, जिससे ब्रेन स्ट्रोक आ सकता है.

 

 

 

 

 

 

Source link

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: