इंडिया गेट के पास प्राइवेट गार्ड और वेंडर के बीच हुई मारपीट का वीडियो वायरल, ईंट से वेंडर के सिर पर वार करता दिखा गार्ड

नई दिल्लीः इंडिया गेट स्थित चिल्ड्रन पार्क के पास वेंडर्स और प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड के बीच झगड़ा हो गया। इसके कई वीडियो भी वायरल हुए हैं, जिसमें प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड, वेंडर्स को पीटते दिखाई दे रहे हैं। एक वीडियो में तो एक गार्ड टायल से वेंडर के सिर पर वार करता भी दिख रहा है। हालांकि, पुलिस का कहना है कि पहले हमला वेंडर्स ने किया था। गार्डस की शिकायत पर विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

नई दिल्ली जिले के डीसीपी प्रणव तायल ने बताया कि घटना मंगलवार दोपहर करीब 3:30 की है। जब एनडीएमसी का ट्रक इंडिया गेट स्ट्रेच के नो वेंडिंग जोन में वेंडर्स का सामान उठाने पहुंचा था। क्योंकि मना करने के बाद भी वेंडर्स वहां खड़े थे। आरोप है कि इसी दौरान वेंडर्स के ग्रुप ने प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड और पुलिस वालों पर भी हमला कर दिया। उन्होंने लाठी-डंडों से वार किए और पथराव भी किया। किसी तरह से इन्हें काबू में किया गया। पुलिस का कहना है कि घटना में पांच गार्ड जख्मी हुए हैं। अभी तक प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड की शिकायत पर ही मामला दर्ज किया गया है। वायरल वीडियो में दिखाई दे रहे वेंडर्स के मामले में अभी तक पुलिस को शिकायत नहीं मिली है। शिकायत मिलने के बाद ही कुछ कार्रवाई की जा सकेगी।

नैशनल होकर फेडरेशन के राष्ट्रीय सचिव अनिल बक्शी ने कहा कि सुबह से रात तक कड़ी मेहनत के बाद दो पैसे कमाने वाले गरीब स्ट्रीट वेंडर को इंडिया गेट पर बुरी तरह से पीटा जा रहा है। कोई पत्थर से मार रहा है, तो कोई सामान फेंक रहा है। स्ट्रीट वेंडर को उठाकर ले जा रहे है। ये अमानवीय कृत्य है। यदि स्ट्रीट वेंडर की कोई गलती है, तो उसे पकड़कर पुलिस के हवाले करना चाहिए था। ऐसे हमला करना गैर-कानूनी है।

ये भी पढ़े-  उद्धव के सांसद विनायक राउत का दावा, नारायण राणे पर भड़के थे PM मोदी, मंत्रालय वापस लेने की कही थी बात

अनिल बक्शी ने बताया इंडिया गेट पर सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट की निगरानी के लिए प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड रखे गए हैं। उनका आरोप है कि ये स्ट्रीट वेंडर्स के साथ बदसलूकी कर रहे हैं। कई लोगों को चोट भी आई है। फोटोग्राफर अखिलेश के सिर में चोट लगी है। भेलपूरी बेचने वाले रोशन, गोल-गप्पे बेचने वाले बादाम, चना बेचने वाले विक्रम के साथ भी मारपीट हुई है। इंडिया गेट पर 4 वेंडिंग जोन बनाए हैं। इसमें 2 वेंडिंग जोन में आइसक्रीम वाले खड़े हो जाते है। छोटे वेंडर्स को घूमकर काम करना पड़ता है। इसी बात को लेकर सिक्योरिटी गार्ड्स और वेंडर्स के बीच झगड़ा हुआ। इसमें एक वेंडर को पत्थर उठाकर भी मारा। इसके वीडियो भी बनाए गए हैं। अनिल बक्शी ने कहा कि प्रशासन को इस पर ध्यान देने की जरूरत है। अंग्रेजों के जमाने में जब इंडिया गेट बना था, तभी से यहां स्ट्रीट वेंडर्स काम करते आए हैं। बता दें कि इंडिया गेट और कर्तव्य पथ पर रोजाना सैलानियों का जमघट लग रहा है। रोजी-रोटी कमाने के लिए काफी संख्या में स्ट्रीट वेंडर्स भी गोल-गप्पे, राम लड्डू, फोटो खींचने, गुब्बारे और आइसक्रीम बेचने जैसे छोट-मोटे काम करते हैं।

 

 

 

 

 

 

 

 

Source link

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: