ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम मेन्स एग्जाम देने की जरूरत नहीं, इन स्टूडेंट्स को सिर्फ जेईई एडवांस्ड से मिलेगा IIT में एडमिशन

 

IIT समेत देश के प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थानों में एडमिशन के लिए ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (JEE) का आयोजन किया जा रहा है. देशभर में JEE Exam करवाए जा रहे हैं. IIT में एडमिशन के लिए स्टूडेंट्स को JEE Main क्लियर करने के बाद JEE Advanced पास करना होता है. हालांकि, स्टूडेंट्स के एक खास ग्रुप को IIT से इंजीनियरिंग करने के लिए जेईई मेन्स एग्जाम देने की जरूरत नहीं होगी. वे सीधे जेईई एडवांस्ड एग्जाम दे पाएंगे. इस साल जेईई एग्जाम आयोजित कर रहे IIT Guwahati के इंफोर्मेशन ब्रोशर में इसकी जानकारी दी गई है.

आईआईटी गुवाहाटी के इंफोर्मेशन ब्रोशर में कहा गया कि ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया (OCI) और पर्सन ऑफ इंडियन ऑरिजन (PIO) के स्टूडेंट्स को इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IITs) में एडमिशन के लिए जेईई मेन में हिस्सा लेने की जरूरत नहीं है. इन दोनों कैटेगरी के स्टूडेंट्स को पहले IIT में दाखिले के लिए पहले एंट्रेंस टेस्ट के पहले फेज को देना होता था. इसके बाद एडवांस्ड एग्जाम के जरिए एडमिशन निर्धारित हो पाता था. 2022 के एडमिशन साइकल में इन स्टूडेंट्स को विदेशी नागरिकों की कैटेगरी में रखा गया था.

JEE-Advanced के लिए सीधे कर पाएंगे रजिस्ट्रेशन

इंफोर्मेशन ब्रोशर में विदेशी नागरिक छात्रों की प्रक्रिया के अनुरूप कहा गया है कि भारत में पढ़ने वाले OCI और PIO स्टूडेंट्स सीधे जेईई-एडवांस्ड एग्जाम देने के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. अगर कोई OCI और PIO स्टूडेंट्स जेईई मेन एग्जाम में हिस्सा लेना चाहता है, तो वह ऐसा कर सकता है. हालांकि, JEE-Advanced के लिए शॉर्टलिस्ट करने को लेकर उनके मेन्स के नंबर पर विचार नहीं किया जाएगा.

ये भी पढ़े-  UPSC Combined Geo Scientist प्रारंभिक परीक्षा का एडमिट कार्ड जारी, यहां से करें डाउनलोड

इसमें कहा गया, ‘जेईई एडवांस्ड 2023 के लिए रजिस्ट्रेशन के समय विदेशी नागरिक उम्मीदवार, जिन्होंने भारत या विदेश में 10+2 लेवल या इसके बराबर पढ़ाई की है या कर रहे हैं, तो उन्हें जेईई मेन्स 2023 में हिस्सा लेने की जरूरत नहीं है. ऐसे स्टूडेंट्स बाकी के एलिजिबिलिटी क्राइटिरिया को पूरा करते हुए जेईई एडवांस्ड के लिए रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं.’

एडमिशन में नहीं मिलेगा रिजर्वेशन

ब्रोशर में इस बात को भी साफ किया गया है कि जो स्टूडेंट्स भारत के नागरिक नहीं हैं या उनके पास OCI/PIO कार्ड नहीं है, तो उन्हें विदेशी नागरिक के तौर पर देखा जाएगा. OCI और PIO स्टूडेंट्स को IIT में उन 10 फीसदी सीटों पर एडमिशन दिया जाएगा, जो विदेशी नागरिकों के लिए तैयार की गई है. एडमिशन के दौरान इन स्टूडेंट को किसी तरह का कोई रिजर्वेशन भी नहीं मिलेगा.

 

 

 

 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: