जिसे IPL ने ठुकराया, उसने भारत को फिर शिकार बनाया, 20 गेंदों के तूफान से बदला इतिहास

लगातार 5 टी20 मैचों में 150 से ज्यादा के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी और भारत के खिलाफ शानदार रिकॉर्ड वाले श्रीलंकाई कप्तान दासुन शानका ने पुणे में अपनी टीम को दमदार जीत दिलाई.

धर्मशाला हो या दुईब या मुंबई या पुणे… भारत और श्रीलंका के बीच पिछले एक साल में जो भी टी20 मैच हुए, उनमें एक ऐसे खिलाड़ी ने अपनी बल्लेबाजी का जलवा दिखाया, जिसे हर हार इंडियन प्रीमियर लीग की नीलामी में अनदेखा कर दिया जाता है. ये खिलाड़ी है – श्रीलंका के टी20 कप्तान दासुन शानका, जिन्होंने गुरुवार 5 जनवरी को पुणे में भारतीय टीम का बुरा हाल कर दिया. (AFP)

पुणे में खेले गए दूसरे टी20 मैच में श्रीलंकाई कप्तान शानका ने सिर्फ 22 गेंदों में 56 रनों की नाबाद अंधाधुंध पारी खेली, जिसके दम पर श्रीलंका ने 20 ओवरों में 206 रन का बड़ा मैच जिताऊ स्कोर खड़ा किया. इसके बाद आखिरी ओवर में उन्होंने 2 विकेट भी चटकाए. (AFP)

पुणे में खेले गए दूसरे टी20 मैच में श्रीलंकाई कप्तान शानका ने सिर्फ 22 गेंदों में 56 रनों की नाबाद अंधाधुंध पारी खेली, जिसके दम पर श्रीलंका ने 20 ओवरों में 206 रन का बड़ा मैच जिताऊ स्कोर खड़ा किया. इसके बाद आखिरी ओवर में उन्होंने 2 विकेट भी चटकाए. (AFP)

इस दौरान शानका ने सिर्फ 20 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा कर दिया, जो इस फॉर्मेट में श्रीलंका की ओर से सबसे तेज फिफ्टी का नया रिकॉर्ड भी बन गया. उन्होंने अपनी पारी में 6 छक्के और 2 चौके जमाए. (AFP)

इस दौरान शानका ने सिर्फ 20 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा कर दिया, जो इस फॉर्मेट में श्रीलंका की ओर से सबसे तेज फिफ्टी का नया रिकॉर्ड भी बन गया. उन्होंने अपनी पारी में 6 छक्के और 2 चौके जमाए. (AFP)

ये पहली बार नहीं है, जब शानका ने भारत के खिलाफ ऐसी पारी खेली है. पिछली 5 पारियों में शानका ने भारत के खिलाफ कुल 255 रन ठोके हैं, जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 205 का है और सिर्फ एक बार भारतीय टीम उन्हें आउट कर सकी थी. (AFP)

ये पहली बार नहीं है, जब शानका ने भारत के खिलाफ ऐसी पारी खेली है. पिछली 5 पारियों में शानका ने भारत के खिलाफ कुल 255 रन ठोके हैं, जिसमें उनका स्ट्राइक रेट 205 का है और सिर्फ एक बार भारतीय टीम उन्हें आउट कर सकी थी. (AFP)

पिछले महीने कोच्चि में हुई IPL की नीलामी में शानका ने भी अपना नाम दिया था लेकिन किसी भी फ्रैंचाइजी ने उन पर बोली नहीं लगाई और पिछली कुछ नीलामियों की तरह वह एक बार फिर खाली हाथ लौटे. जाहिर तौर पर उनकी इस बल्लेबाजी को देखकर टीमों को पछतावा हो रहा होगा. (AFP)

पिछले महीने कोच्चि में हुई IPL की नीलामी में शानका ने भी अपना नाम दिया था लेकिन किसी भी फ्रैंचाइजी ने उन पर बोली नहीं लगाई और पिछली कुछ नीलामियों की तरह वह एक बार फिर खाली हाथ लौटे. जाहिर तौर पर उनकी इस बल्लेबाजी को देखकर टीमों को पछतावा हो रहा होगा. (AFP)

Source link

ये भी पढ़े-  हार्दिक पंड्या के फैसले से चढ़ा पारा, आखिरी ओवर में अक्षर पटेल ने पलट दिया मैच
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: