रामपुर की एमपी एमएलए कोर्ट से जयाप्रदा को राहत, फिल्म अभिनेत्री ने किया आत्मसमर्पण

उत्तर प्रदेश के जिले रामपुर से दो बार लोकसभा की सांसद रही मशहूर फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा सुबह सवेरे 10 बजे ही रामपुर की एमपी एमएलए कोर्ट पहुंच गई और पिछले दिनों जारी हुए उनके विरुद्ध गैर जमानती वारंट के बाद कोर्ट में आत्मसमर्पण किया. इसके बाद जयाप्रदा द्वारा उनके अधिवक्ता एडवोकेट संदीप सक्सेना के माध्यम से रामपुर की एमपी एमएलए कोर्ट में जमानत का प्रार्थनापत्र दाखिल किया गया. कोर्ट में न्यायधीश ने सुनवाई के बाद 25 हजार रुपये का एक जमानती और इतनी धनराशि का मुचलका भरने के बाद उनको जमानत दे दी है.

पूर्व सांसद व फ़िल्म अभिनेत्री जयाप्रदा वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में रामपुर लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी रही थी. ज्याप्रदा ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी आजम खान के विरुद्ध चुनाव लड़ा था हालांकि इस चुनाव में आजम खान की जीत हुई थी. इस चुनाव प्रचार के दौरान जयाप्रदा के विरुद्ध आचार संहिता उल्लंधन के दो मामले दर्ज किए गए थे. जयाप्रदा पर पहला मामला थाना स्वार क्षेत्र के ग्राम नूरपुर में दर्ज किया गया था. उन पर आरोप है कि 19 अप्रैल 2019 को उन्होंने एक सड़क का उद्घाटन किया. जिसका वीडियो वायरल हुआ था. उसके आधार पर फलाइंग स्कवॉड मजिस्ट्रेट 34 स्वार डॉ. नीरज कुमार पराशरी ने आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया था.

2019 के हैं दोनों मामले

जयाप्रदा पर दूसरा मामला थाना केमरी क्षेत्र के ग्राम पिपलिया मिश्र का हैं. जयाप्रदा पर आरोप है कि 18 अप्रैल 2019 को ग्राम पिपलिया मिश्र में आयोजित जनसभा में संबोधन करते हुए उन्होंने आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. इस मामले में वीडियो निगरानी टीम के प्रभारी कुलदीप भटनागर ने आचार संहिता उल्लंधन के तहत एफआईआर दर्ज कराई थी. दोनों मुकदमों की विवेचना करने के बाद रामपुर पुलिस ने एमपी एमएलए कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है.

ये भी पढ़े-  Himachal Latest Update: हिमाचल सरकार ने चार आईएएस, तीन आईपीएस और सात एचएएस अधिकारियों के तबादले किए

जयाप्रदा के विरुद्ध चल रहे इन दोनों मुकदमों की सुनवाई रामपुर की एमपी एमपीएल कोर्ट में चल रही है. मुकदमों की सुनवाई के दौरान लगातार गैर हाजिर रहने पर कोर्ट ने 20 दिसम्बर 2022 को पूर्व सांसद व फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा के विरुद्ध गैर जमानती वारंट जारी किया था. साथ ही रामपुर पुलिस अधीक्षक को पत्र भेजकर कोर्ट ने जयाप्रदा को न्यायालय में पेश होने को कहा था. जयाप्रदा के अधिवक्ता एडवोकेट संदीप सक्सेना ने बताया कि वो आज प्रॉपर्टी रामपुर की एमपी एमएलए कोर्ट में हाजिर हुई और उन्हें कोर्ट ने जमानत दे दी है. 2019 लोकसभा चुनाव के दौरान दर्ज हुए आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में सुनवाई के दौरान हाजिर नहीं होने पर उनके विरुद्ध एनबीडब्ल्यू जारी किया गया था.

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Source link

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: