5, 10, 50 रुपए जैसे छोटे नोटों पर आरबीआई करने जा रहा ये काम

 

Reserve Bank of India : देश में छोटे नोटों की दिक्कत दूर करने के लिए आरबीआई एक खास कदम उठाने जा रहा है. क्योंकि कई बार खुल्ले यानी चेंज को लेकर परेशान हो जाते हैं. कई बार तो ऐसा होता है कि लोगों को छोटे नोट नहीं मिलते हैं. और एटीएम से भी लोगों को छोटे नोट बहुत कम मिल रहे हैं. जिससे लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. छोटे नोट न मिलने की वजह से कई शिकायतें भारतीय रिजर्व बैंक तक पहुंची है. इसके बाद आरबीआई एटीएम में छोटे नोटों की संख्या बढ़ाने पर विचार कर रहा है.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया एटीएम में 100 और 200 के नोटों की संख्या बढ़ाने के लिए गाइडलाइंस भी जारी कर सकता है. 5, 10, 50 रुपए जैसे छोटे नोटों की समस्या पर भी RBI कुछ काम करने जा रहा है. इसके साथ ही आरबीआई यूपीआई आधारित एटीएम लगाने पर भी विचार कर रहा है. यूपी आधारित एटीएम से लोग छोटे-छोटे ट्रांजैक्शन कर सकेंगे. जिससे लोगों को किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होगी.

बता दें कि आरबीआई के अधिकारियों ने शिकायतों के बाद इस बात का संज्ञान में लिया. खुले पैसों को लेकर आ रही समस्या पर इस महीने रिजर्व बैंक के अधिकारियों की अहम बैठक हुई. इस बैठक में कई सुझाव दिए गए है इनमें यूपीआई एटीएम से लेकर अधिक छोटे नोटों को बाजार में उतारने जैसे कदमों पर बात हुई.

छोटे नोटों की संख्या हो रही कम

सूत्रों के अनुसार, 5, 10, 50 रुपए जैसे छोटे नोटों पर भी RBI कुछ काम करने जा रहा है. क्योंकि लोगों को बाजार में 5, 10, 50 रुपए के नोट या सिक्के बहुत ही कम देखने को मिलते है. जब लोग बाजार में कुछ भी खरीदारी करते हैं. तो छोटे नोटों की कमी के चलते उनको 50, 100, 200, 500, रुपए खर्च करने पड़ते हैं. क्योंकि लोगों को बैंक से छोटे नोट बहुत कम ही मिलते हैं और बाजार में भी लोगों के छोटे नोट बहुत कम देखने को मिलते है.

ये भी पढ़े-  प्रधानमंत्री किसान योजना :13वीं किस्त का लाभ आपको मिल सकता है या नही, ऐसे चेक करें लिस्ट में अपना नाम

बता दें कि बाजार और आम लोगों के बीच छोटे नोटों की संख्या दिन पर दिन कम होती जा रही है. जब आम जनता बाजार में खुले पैसे कराने जाते हैं तो उनको बाजार में भी छोटे नोट नहीं मिलते हैं. जिससे लोगों को खुले पैसों के लिए इधर-उदर घूमने के कारण काफी परेशान होना पड़ता है.

 

 

 

 

 

 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: