FIFA World Cup के क्वालिफायर में भारत के साथ खुलेआम बेईमानी, AIFF ने की जांच की मांग

क्रिकेट की दुनिया में भारतीय टीम का दबदबा है. वहीं दूसरी ओर फुटबॉल में देश की 1.4 अरब की आबादी आज भी फीफा वर्ल्ड में क्वालिफाई करने का सपना देख रही है. काफी मेहनत के बाद भारतीय टीम 2026 में होने वाले फीफा वर्ल्ड कप (FIFA World Cup) के क्वालिफायर्स के दूसरे राउंड तक पहुंची थी. तीसरे राउंड में जाने के लिए उसे कतर को हराना था. सुनील छेत्री के रिटायरमेंट के बाद टीम इंडिया ने शानदार खेल दिखाया. दोहा में वाले क्वालिफायर में मेजबान देश कतर के खिलाफ 1 गोल की बढ़त भी ले ली थी, लेकिन रेफरी की नाइंसाफी की वजह से अब भारतीय टीम को फीफा वर्ल्ड कप रेस से बाहर होना पड़ा है. इसके साथ ही एक बार फिर 1.4 अरब भारतीयों का सपना टूट गया है.

गोल को लेकर भारत के साथ खुलेआम बेईमानी

भारत की तरफ से लल्लियानज़ुआला चांग्ते ने पहले हाफ में एक गोल लगाकर टीम को बढ़त दिला दी थी. 72वें मिनट तक टीम ने बढ़त को बनाए रखा लेकिन 73वें मिनट में रेफरी ने खुलेआम बेईमानी की और कतर ने बराबरी कर ली. दरअसल, कतर को फ्री कीक का मौका मिला, इसे युसूफ अयमन ने गोल की तरफ मारा. भारतीय गोलकीपर ने इसे रोक दिया और गेंद गोलपोस्ट के लाइन को पार गई. इसके बावजूद कतर का एक खिलाड़ी बॉल को लाइन के अंदर ले आया और गोल मारकर सेलिब्रेट करने लगा. हैरानी की बात ये थी कि मैच रेफरी ने इसे गोल दे दिया, जबकि नियम के अनुसार इसे कॉर्नर होना चाहिए था. रेफरी के इस फैसले से सभी भारतीय खिलाड़ी हैरान थे. उन्होंने इस फैसले का विरोध किया और दोनों रेफरी से बात की लेकिन वो नहीं माने. टीम इंडिया फैसले को बदलने के लिए मनाते-मनाते थक गई लेकिन रेफरी अपने फैसले पर अडिग रहे. अब भारतीय फुटबॉल संघ (AIFF) ने इस विवादित गोल की जांच की मांग की है.

कतर ने 2-1 से हराकर बाहर किया

कतर की टीम ने बेईमानी से गोल करके पहले बढ़त की बराबरी की. इसके बाद टीम के खिलाड़ी अहमद अल-रवी ने 85वें मिनट में एक और गोल दाग दिया. इससे भारतीय पिछड़ गई और मुकाबला खत्म होने तक बराबरी नहीं कर सकी. इस मैच को जीतकर टीम इंडिया के पास तीसरे राउंड में जाने का मौका था, जहां तक यह टीम इससे पहले कभी भी नहीं पहुंच सकी थी. साउथ कोरिया के दो मैच रेफरी की बेईमानी के कारण टीम इंडिया का फीफा वर्ल्ड कप 2026 में जाने का पहले ही टूट गया.

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!