मुकेश अंबानी की एक और शॉपिंग : अब 100 साल पुरानी इस देसी कोल्ड ड्रिंक कंपनी का करेंगे अधिग्रहण

 

Reliance Consumer Products Limited : मुकेश अंबानी की आरसीपीएल कंपनी गुजरात की कार्बोनेटेड सॉफ्ट ड्रिंक्स (सीएसडी) और जूस बनाने वाली कंपनी सोस्यो हजूरी बेवरेजेज प्राइवेट लिमिटेड (एसएचबीपीएल) में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगी. रिलायंस रिटेल वेंचर लिमिटेड (आरआरवीएल) ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि यह अधिग्रहण आरसीपीएल को अपने पेय पोर्टफोलियो को बढ़ाने में सक्षम बनाएगा. 100 साल पुरानी देसी कोल्ड ड्रिंक बनाने वाली कंपनी (Cold Drink Company) के मौजूदा प्रवर्तक हजूरी परिवार के पास एसएचबीपीएल की शेष हिस्सेदारी बनी रहेगी.

रिलायंस रिटेल वेंचर के बयान के मुताबिक, इस संयुक्त उद्यम के साथ रिलायंस पेय खंड में अपने पोर्टफोलियो को और मजबूत करेगा, जो पहले से ही प्रतिष्ठित ब्रांड कैम्पा का अधिग्रहण कर चुका है. इसके अलावा उत्पाद पोर्टफोलियो और उपभोक्ताओं के लिए अद्वितीय मूल्य प्रस्ताव विकसित करने के लिए फॉर्मूलेशन में सोस्यो की विशेषज्ञता का लाभ उठाया जा सकता है. आरसीपीएल एफएमसीजी इकाई है और देश की प्रमुख खुदरा कंपनी आरआरवीएल की सहायक है. 1923 में अब्बास अब्दुलरहीम हजूरी द्वारा स्थापित कंपनी प्रमुख ब्रांड सोस्यो के तहत अपने कोल्ड ड्रिंक कारोबार का संचालन करती है.

ईशा अंबानी करती है कारोबार का नेतृत्व

बता दें कि RIL ने अपनी शाखा Reliance Consumer Products के माध्यम से Sosyo का लेन-देन किया है. खुदरा और उपभोक्ता उत्पादों के कारोबार का नेतृत्व आरआईएल के अध्यक्ष मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी करती हैं. उन्होंने कहा कि यह निवेश (सोस्यो में) हमें स्थानीय विरासत ब्रांडों को सशक्त बनाने और उन्हें विकास के नए अवसरों के साथ पेश करने की दिशा को आगे बढ़ाने में मदद करता है.

ये भी पढ़े-  रेस्तरां में बने खाने पर ही 5% GST, पहले से तैयार सामान पर लगेगा उसी के मुताबिक टैक्स, पूरी डिटेल

कार्बोनेटेड ठंडी कोल्ड ड्रिंक और जूस में लगभग 100 वर्षों की विरासत के साथ हजूरी परिवार द्वारा 1923 में सोस्यो की स्थापना की गई थी. वर्तमान में परिवार की तीसरी और चौथी पीढ़ी अब्बास हजूरी और उनके बेटे अलियासगर हजूरी कोल्ड ड्रिंक कंपनी का नेतृत्व कर रहे हैं. सोस्यो हजूरी बेवरेजेज के चेयरमैन अब्बास हजूरी ने कहा कि आरआईएल के साथ साझेदारी से सोसियो को तेजी से अपनी पहुंच बढ़ाने में मदद मिलेगी.

फ्रैंचाइजी मॉडल पर आधारित है Sosyo

सोसियो के अलावा, कंपनी के पोर्टफोलियो में कश्मीरा, लेमी, जिनलिम, रनर, ओपनर, हजूरी सोडा और एसओउ ब्रांड हैं. सोस्यो हजूरी का नेटवर्क एक फ्रैंचाइजी मॉडल पर आधारित है, जिसमें पश्चिमी भारत में 14 विनिर्माण इकाइयां हैं और 90,000 खुदरा दुकानों के लिए 450 वितरक हैं. कैंपा और सोस्यो के साथ आरआईएल भारतीय बाजार में अमेरिकी कोला दिग्गजों, पेप्सी और कोक के साथ प्रतिस्पर्धा करेगी.

साझेदारी करना चाहती है RIL

आरआईएल कम्पनी अपने निजी लेबल व्यवसाय का निर्माण करने के लिए उपभोक्ता वस्तुओं के स्पेक्ट्रम में अधिक घरेलू ब्रांडों के साथ साझेदारी करना या बनाना चाहती है. कुछ ऐसा जो दुनिया के सबसे बड़े रिटेलर वॉलमार्ट और एल्डी जैसी जर्मन सुपरमार्केट श्रृंखलाओं द्वारा महारत हासिल है. निजी लेबल एक उच्च मार्जिन वाला व्यवसाय है, जो खुदरा विक्रेता की कमाई में महत्वपूर्ण योगदान देता है.

 

 

 

 

Source link

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: