महराजगंज: वृद्ध व्यक्ति पर मगरमच्छ का हमला, वन विभाग ने रेस्क्यू कर ताल में छोड़ा

महराजगंज से चन्द्रभान राज की रिपोर्ट-

 

 

 

 

 

महराजगंज: बरसात के मौसम में महराजगंज जिले में मगरमच्छों का रिहायशी इलाकों में दिखाई देना एक गंभीर समस्या बन गई है। हाल ही में निचलौल थाना क्षेत्र के टिकुलहिया गांव में एक विशालकाय मगरमच्छ देखा गया, जिससे ग्रामीणों में हड़कंप मच गया।

टिकुलहिया गांव के टोंगरी टोला के कुछ लोग गांव के पूरब स्थित हनुमान मंदिर के पास से गुजर रहे थे, तभी उन्होंने पोखरे में एक विशालकाय मगरमच्छ को देखा। यह खबर गांव में आग की तरह फैल गई और मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। किसी ने वन विभाग को सूचित किया और कुछ ही देर में वन विभाग की टीम पहुंच गई।

वन विभाग की टीम ने ग्रामीणों की मदद से काफी मशक्कत के बाद मगरमच्छ को सुरक्षित रेस्क्यू किया। इस दौरान ग्रामीणों में दहशत का माहौल बना रहा। वन विभाग के निचलौल वन क्षेत्राधिकारी सुनील राव ने बताया कि मगरमच्छ को सुरक्षित तरीके से दर्जीनीया ताल में छोड़ दिया गया।

वन विभाग ने ग्रामीणों से सतर्क रहने की अपील की है, क्योंकि बरसात के दिनों में मगरमच्छ रिहायशी इलाकों में आ सकते हैं। ग्रामीणों ने भी राहत की सांस ली और कहा कि अनहोनी होने से पहले ही मगरमच्छ का रेस्क्यू हो गया, क्योंकि पोखरे से महज कुछ ही दूरी पर आबादी है।

 

तीन दिन पहले हुई थी एक अन्य घटना

तीन दिन पहले निचलौल वन रेंज क्षेत्र के बुढ़वा जंगल के पास एक नहर के तट पर शौच के लिए बैठे एक व्यक्ति पर मगरमच्छ ने हमला कर दिया था। इस हमले में उस व्यक्ति के गुप्तांग को मगरमच्छ ने काट लिया और नहर में कूद गया। चीख-पुकार सुनकर मौके पर पहुंचे लोगों ने उस व्यक्ति के परिजनों को सूचित किया।

परिजनों ने घायल व्यक्ति को निचलौल स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन उसकी गंभीर हालत देखते हुए उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। वहां भी हालत में सुधार न होने पर मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर कर दिया गया। घायल व्यक्ति, कन्हैया गौंड (60), कुशीनगर जिले के खड्डा थाना क्षेत्र के मदनपुर भेड़ियारी गांव के निवासी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!