छात्रा का अपहरण करना महिलाओं को पड़ा महंगा, केस दर्ज

चन्द्रभान राज की रिपोर्ट-

महराजगंज: छात्रा अपहरण कांड में कोतवाली पुलिस ने सात महिलाओं समेत आठ के खिलाफ धारा 365 आईपीसी के तहत केस दर्ज किया है। जिस गाड़ी से छात्रा का अपहरण हुआ था, उस वाहन को पुलिस अपने कब्जे में ले लिया है। इस मामले में किसी महिला की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

शहर के पीजी कॉलेज केन्द्र पर एलएलबी पांचवें सेमेस्टर की परीक्षा देने आई निचलौल के एक लॉ कॉलेज की छात्रा आफरीन बानो को सोमवार दोपहर में दो गाड़ी से आई महिलाएं अपहरण कर उठा ले गईं। इस घटना से सनसनी मच गई। कोतवाल रवि कुमार रॉय व नगर चौकी इंचार्ज अमित सिंह पुलिस कर्मियों के साथ कॉलेज गेट पर पहुंचे। सीसीटीवी फुटेज को खंगालने से पता चला कि छात्रा को गाड़ी में बैठाकर महिलाएं निचलौल रोड की तरफ ले गई हैं। एसपी डॉ. कौस्तुभ के निर्देश पर सिन्दुरिया, निचलौल, ठूठीबारी, बरगदवा, परसामलिक, नौतनवा व सोनौली पुलिस वाहनों की सघन जांच शुरू कर दी। देर रात छात्रा को नौतनवा कस्बे के एक मोहल्ले से पुलिस ने बरामद कर लिया। एसपी डॉ. कौस्तुभ ने बताया कि छात्रा कुशीनगर जनपद के रामजानकी नगर वार्ड कसया की रहने वाली है। छात्रा के पिता नासिर हुसैन की तहरीर पर सात महिलाओं समेत आठ के खिलाफ गुप्त रूप से अपहरण करने के आरोप में धारा 365 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर विवेचना शुरू करा दी गई है।

गोरखपुर, निचलौल व नौतनवा की रहने वाली हैं आरोपित महिलाएं

छात्रा अपहरण कांड में घासी कटरा मिर्जापुर की रहने वाली प्रीति शर्मा लाल डिग्गी राजघाट गोरखपुर निवासी नेहा गुप्ता, मिर्जापुर गोडियाना राजघाट गोरखपुर निवासी सारिका विश्वकर्मा, जाफरा बाजार तिवारी गोरखपुर निवासी पुष्पलता जायसवाल, नासिर सिद्दीकी निचलौल, गांधीनगर नौतनवा की रहने वाली अमृता तिवारी के अलावा नौतनवा के ही निवासी अमृता जायसवाल व डिम्पल के खिलाफ कोतवाली पुलिस ने धारा 365 आईपीसी के तहत केस दर्ज किया है। आईपीसी की इस धारा में गुप्त रूप से अपहरण के आरोप में केस दर्ज किया जाता है। इसमें सात साल तक की सजा हो सकती है।

ये भी पढ़े-  पिता की मौत पर बड़े भाई ने छोटे भाई पर लगाया हत्या का आरोप।

छात्रा के खिलाफ गोरखपुर के राजघाट थाना में दर्ज है केस

छात्रा को गुप्त रूप से महिलाओं द्वारा ही अपहरण करने से सोमवार को कोतवाली समेत कई थानों की पुलिस करीब आठ घंटे तक परेशान रही। रात में करीब नौ बजे के आसपास नौतनवा से छात्रा को बरामद करने के बाद पुलिस कर्मी राहत में आए। एसपी डॉ. कौस्तुभ व एडिशनल एसपी आतिश कुमार सिंह पल-पल की पुलिस कार्रवाई पर नजर रखे हुए थे। सोमवार की रात पौने दस बजे एसपी डॉ. कौस्तुभ ने छात्रा की बरामदगी की जानकारी दी। नगर चौकी इंचार्ज अमित सिंह के मुताबिक अभी तक जांच में जो बातें सामने आई है उसके मुताबिक छात्रा आफरीन बानो के खिलाफ गोरखपुर के राजघाट थाने में केस दर्ज है। सभी पहलुओं पर जांच की जा रही है।

नौकरी देने के नाम लाखों रुपये की हुई है वसूली

छात्रा के अपहरण व बरामदगी को लेकर सबसे अधिक सरगर्मी नौतनवा कस्बे में देखने को मिली। छात्रा के अपहरण के मामले में इस कस्बे की तीन आरोपितों महिलाएं भी नामजद हुई हैं। नौतनवा में चर्चा के मुताबिक यह घटना नौकरी देने के नाम पर लाखों रुपये की वसूली से जुड़ा है। बताया जा रहा है कि छात्रा एक एजीओ से जुड़ी थी। एनजीओ अगरबत्ती पैकिंग के लिए तीन-तीन हजार रुपये की सैलरी देने के लिए प्रति महिला से 13-13 सौ रुपया रजिस्ट्रेशन के नाम पर जमा कराया गया। अकेले नौतनवा कस्बा में करीब आठ केन्द्र संचालित हो रहा था। केवल एक घंटे काम के प्रस्ताव पर नौतनवा कस्बे की करीब तीन-चार हजार महिलाएं रजिस्ट्रेशन कराईं। चार-पांच माह काम चला भी। लेकिन जब सैलरी देने की मांग उठने लगी तो जिम्मेदार फरार हो गए। नौतनवा की कई महिलाओं ने बताया कि नौकरी के नाम पर रजिस्ट्रेशन शुल्क वसूलने का मामला निचलौल, गोरखपुर भी सामने आ चुका है।

ये भी पढ़े-  परिश्रम ही सफलता की कुंजी है-सजनू यादव

छात्रा को जबरन गाड़ी में बैठाकर गुप्त स्थान पर ले जाने के आरोप में पीड़िता के पिता की तहरीर पर सात महिलाओं समेत आठ के खिलाफ धारा 365 आईपीसी के तहत केस दर्ज किया गया है। जांच शुरू कर दी गई है। छात्रा व गाड़ी को पुलिस बरामद कर ली है। जांच रिपोर्ट के आधार पर विधिक कार्रवाई आगे बढ़ाई जाएगी।

डॉ. कौस्तुभ-एसपी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: