मैं किसी के दरवाजे पर नहीं गया था, कांग्रेस-BJP मेरे यहां आए थे, कुमारस्वामी का शाह पर हमला

कर्नाटक में कुछ महीनों में विधानसभा चुनाव होने हैं और ऐसे में इस दक्षिणी राज्य में चुनावी हलचल बढ़ने लगी है. साथ में नेताओं की ओर से एक-दूसरे पर हमले करने का सिलसिला भी शुरू हो गया है. अब जनता दल (सेक्युलर) (जद-एस) के नेता और राज्य के पूर्व सीएम एच डी कुमारस्वामी ने सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर पलटवार करते हुए कहा कि उनकी राजनीति की शैली कर्नाटक में नहीं चलेगी.

पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी का पलटवार क्षेत्रीय पार्टी के खिलाफ अमित शाह की उन टिप्पणियों के बाद आया है, जिसमें उन्होंने इसे एक परिवार का एटीएम कहा था और दावा किया था कि इसके लिए मतदान करना कांग्रेस के लिए मतदान करने जैसा होगा. आगामी विधानसभा चुनावों के बारे में एच डी कुमारस्वामी ने कहा कि चुनाव के लिए पार्टी उम्मीदवारों की दूसरी सूची मकर संक्रांति के बाद आने की उम्मीद है. पार्टी पहले ही 93 उम्मीदवारों की पहली सूची की घोषणा कर चुकी है.

मैं बीजेपी या कांग्रेस के दरवाजे पर नहीं गयाः कुमारस्वामी

कुमारस्वामी ने कहा, “उन्होंने (अमित शाह) कहा है कि (भारतीय जनता पार्टी का) किसी के साथ कोई गठबंधन नहीं होगा. कौन उनके दरवाजे पर गया था? क्या हम एक समझौते की तलाश में गए थे? मैं 120 सीटों (224 सदस्यीय विधानसभा में) से अधिक सीटें हासिल करने के उद्देश्य से अपनी पार्टी का आधार बना रहा हूं. मैं दिन में 20 घंटे काम कर रहा हूं. मैं अर्जी लेकर कांग्रेस या बीजेपी के दरवाजे पर नहीं गया.”

चुनाव से पहले बीजेपी का ऑपरेशन लोटस

पूर्व मुख्यमंत्री ने मैसूरु में आयोजित पीसी में पत्रकारों से कहा, “2018 के विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस ने दावा किया था कि जद (एस) को वोट देने का मतलब बीजेपी को वोट देना है और हमें बी टीम कहा गया था. अब, बीजेपी के अमित शाह जनता दल (एस) को कांग्रेस की बी टीम कह रहे हैं और कह रहे हैं कि हमें वोट देना कांग्रेस को वोट देने जैसा होगा. यह जद (एस) के बारे में डर दिखाता है.”

ये भी पढ़े-  2024 में कांग्रेस से हाथ मिलाएगी सपा? कहां से चुनाव लड़ेंगे अखिलेश, सपा प्रमुख ने बता दिया सबकुछ

एच डी कुमारस्वामी ने बीजेपी पर उन निर्वाचन क्षेत्रों में अन्य पार्टियों के मजबूत जीतने योग्य उम्मीदवारों को लुभाने की योजना बनाने का आरोप लगाया जहां पार्टी कमजोर है. उन्होंने कहा, “यह चुनाव से पहले ऑपरेशन लोटस है.” उन्होंने कहा, “यह कर्नाटक है, यहां आपकी राजनीति नहीं चलेगी… मैं किसी के दरवाजे पर नहीं गया था, कांग्रेस और बीजेपी दोनों गठबंधन की मांग करते हुए मेरे दरवाजे पर आए थे.”

इनपुट-एजेंसी/भाषा

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Source link

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: