आज दिल्ली को मिलेगी महिला मेयर, जानें कैसे होता है ‘छोटी सरकार’ के मुखिया का चुनाव

नई दिल्ली : दिल्ली नगर निगम चुनाव के बाद आज मेयर का चुनाव होना है। बहुमत नहीं होने के बावजूद बीजेपी ने मेयर पद के लिए अपना उम्मीदवार खड़ा किया। इसके बाद मेयर पद के लिए चुनाव रोमांचक हो गया है। वहीं, कांग्रेस ने मेयर चुनाव में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। दूसरी तरफ, मेयर पद के लिए चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी और उपराज्यपाल के बीच फिर से मतभेद पैदा हो गया है। इस बार मतभेद की वजह मेयर पद के चुनाव से एक दिन पहले पीठासीन अधिकारी की नियुक्ति को लेकर है। एलजी की तरफ से बीजेपी की पार्षद सत्या शर्मा को पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया है। वहीं, आम आदमी पार्टी की तरफ से मुकेश गोयल का नाम प्रस्ताव भेजा गया था।

सिविक सेंटर में होगा मेयर का चुनाव
एमसीडी के मेयर, डिप्टी मेयर और स्थायी समति के लिए 6 सदस्यों का चुनाव शुक्रवार को सिविक सेंटर में होगा। एमसीडी के मेयर चुनाव को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। शुक्रवार को एमसीडी के मेयर, डिप्टी मेयर और स्थाई समिति के 6 सदस्यों का चुनाव होना है। इसे लेकर चुनाव संबंधी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। सबसे पहले एमसीडी चुनाव में जीते सभी पार्षदों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई जाएगी। इसके तुरंत बाद ही बैलेट पेपर के जरिए एमसीडी मेयर और डिप्टी मेयर के चुनाव की चुनावी प्रक्रिया शुरू होगी। मेयर पद के लिए बैलेट वोटिंग सुबह 11 बजे से होगी।

कौन है मेयर पद के लिए दावेदार
मेयर पद के लिए उम्मीदवार आम आदमी पार्टी की तरफ से ईस्ट पटेल नगर वार्ड से पार्षद शैली ओबेरॉय और आशु ठाकुर को उम्मीदवार बनाया गया है। आम आदमी पार्टी की तरफ से चितरंजन पार्क वार्ड आशु ठाकुर को बैकअप उम्मीदवार के रूप में रखा गया है। वहीं, बीजेपी ने सीनियर लीडर और शालीमार बाग से पार्षद रेखा गुप्ता को उम्मीदवार बनाया है। डिप्टी मेयर पोस्ट के लिए आम आदमी पार्टी की तरफ से आले मोहम्मद इकबाल और जलज कुमार उम्मीदवार हैं। वहीं, बीजेपी ने कमल बागरी को उम्मीदवार बनाया है। स्टैंडिंग कमेटी के सदस्यों के लिए 6 सीटों पर 7 उम्मीदवार मैदान में हैं। आम आदमी पार्टी की तरफ से करावल नगर वार्ड से आमिल मलिक, हरिनगर वार्ड से रमिंदर कौर, सीमापुरी वार्ड से मोहिनी जीनवाल और जंगपुरा वार्ड से सारिका चौधरी उम्मीदवार हैं। वहीं, बीजेपी की तरफ से कमलजीत शेहरावत, गजेंद्र दराल और पंकज लूथरा मैदान में हैं।

ये भी पढ़े-  न्योता, नकार, तकरार से 'थैंक्यू' तक... 'भारत जोड़ो यात्रा' के लिए यूं चला अखिलेश-राहुल में संवाद

तीन रंग के बैलेट पेपर का यूज
दिल्ली में नगर निगम मेयर पद चुनाव के लिए कलर कोड तय किया है। इस कलर कोड के तहत तीन वाइट, ग्रीन और पिंक रंग के बैलेट पेपर का प्रयोग किया जाएगा। इसमें वाइट बैलेट पेपर से मेयर पद के लिए वोट डाले जाएंगे। डिप्टी मेयर चुनाव के लिए ग्रीन बैलट पेपर का यूज होगा। वहीं, स्टैंडिंग कमेटी के मेंबर्स के लिए पिंक बैलेट पेपर का यूज होगा।

कौन-कौन डालेगा वोट
दिल्ली मेयर के चुनाव में बहुमत के हिसाब से आम आदमी पार्टी सबसे आगे है। मेयर पद के चुनाव में चुने गए 250 पार्षदों के अलावा 14 नामित विधायक और 10 सांसद भी वोट डालेंगे। इन नामित 14 में 13 विधायक आम आदमी पार्टी के हैं। इसके अलावा 10 सांसदों को भी वोटिंग का अधिकार है। इन 7 सांसदों में 7 बीजेपी के हैं तो आम आदमी पार्टी के 3 राज्यसभा सांसद हैं। ऐसे में कुल जिन 274 लोगों को वोटिंग का अधिकार है उनमें से 150 की संख्या आम आदमी पार्टी के पक्ष में है।

नहीं लागू होता है दल-बदल कानून
दिल्ली के मेयर चुनाव में दल-बदल कानून लागू नहीं होता है। ऐसे में पार्षदों के पाला बदलने में कोई कानूनी अड़चन नहीं होती है। इसके अलावा इस चुनाव में व्हिप लागू नहीं होता है। इस वजह से मेयर पद के चुनाव में जोड़-तोड़ की आशंका भी बनी रहती है। ऐसे में दिल्ली मेयर चुनाव में उलटफेर की संभावनाओं के दरवाजे खुले हुए हैं।

आप ने हासिल किया था MCD में बहुमत
7 दिसंबर को आम आदमी पार्टी (AAP) ने दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के 250 में से 134 वार्ड में जीत हासिल की थी। आम आदमी पार्टी ने बीजेपी के निगम में 15 साल तक चले शासन पर विराम लगा दिया था। चुनाव में भाजपा ने 104 वार्ड में जीत हासिल की थी। वहीं, कांग्रेस ने 9 सीटों पर जीत दर्ज की थी।

ये भी पढ़े-  डीजी प्रिजन के खिलाफ मामला बंद, यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को दिया जवाब

Source link

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: