श्रीराम परमहंस बालिका इण्टर कॉलेज कोल्हूई में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में जागरूक शिविर का आयोजन किया गया

सुरज कुमार की रिपोर्ट-

महराजगंज जनपद जिला विधिक सेवा प्राधिकरण” के तत्वाधान में कोल्हुई बाजार, महराजगंज में स्थित श्रीराम परमहंस बालिका इण्टर कालेज, जनपद-महराजगंज में “विधिक साक्षरता एवं जागरुकता शिविर” का आयोजन जिला एवं सत्र न्यायाधीश/अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जय प्रकाश तिवारी के निर्देश पर अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश/सचिव, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण कमलेश्वर पाण्डेय की अध्यक्षता में किया गया।

 

न्यायाधीश कमलेश्वर पाण्डेय ने कार्यक्रम में उपस्थित विद्यार्थियों, अभिभावकों, गणमान्य नागरिकों को उनके संवैधानिक अधिकारों तथा उनके संवैधानिक अधिकारों के हनन अथवा किसी प्रकार के अपराध तथा आर्थिक, सामाजिक, मानसिक उत्पीड़न की स्थिति में पीड़ित को विधिक सहायता तथा अपराध से पीड़ित/आश्रित के क्षतिपूर्ति पर प्रकाश डाला।

 

 

किशोर तथा नाबालिग पीड़ितों के लिए विशेष सत्र न्यायालय की व्यवस्था के प्रति विद्यार्थियों को जागरुक करते हुए कहा कि वर्तमान के किशोर व नाबालिग ही भारत के भविष्य हैं। इनको अपने साथ होने वाले किसी के असहज व्यवहार के प्रति सजग व जागरुक रहना चाहिए, वह असहज व्यवहार अपराध की श्रेणी का भी हो सकता है। न्यायाधीश ने अपराध पीड़ित के लिए न्यायिक प्रक्रिया में न्यायालय तथा उ°प्र° सरकार द्वारा प्रदत्त निःशुल्क सुविधाओं के बारे में चर्चा किया। आगामी 11 फरवरी 2023 को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत की महत्ता पर विशेष ध्यानाकर्षण कराते हुए न्यायाधीश कमलेश्वर पाण्डेय ने बताया कि सुलह योग्य फौजदारी (क्रिमिनिल) मुकदमें, पारिवारिक वाद, राजस्व वाद, चकबंदी वाद, रुपये का लेन-देन चेक बाउंस, भूमि अधिग्रहण वाद, इत्यादि के लिए सुलह समझौते के आधार पर विवादों-मुकदमों का निस्तारण एक बेहतर विकल्प है। लोक अदालत में पारित निर्णय अंतिम होता है एवं इसके आदेश की किसी अन्य न्यायालय में अपील नहीं हो सकता है।

ये भी पढ़े-  विधिक साक्षरता एवं जागरूकता कार्यक्रम आगामी 12जनवरी को

 

 

कार्यक्रम को उपजिलाधिकारी फरेंदा मनमोहन वर्मा, तहसीलदार रामअनुज तिवारी तथा पुलिस क्षेत्राधिकारी फरेन्दा कोमल मिश्र तथा सुधांशु पाण्डेय एडवोकेट ने संबोधन किया। उपजिलाधिकारी ने अपने संबोधन में कहा कि “यदि हम अपने आचार व्यवहार और वाणी में सद् और सत्य को आत्मसात कर उसे जीवन शैली बना लेते हैं तो मुकदमों की नौबत ही नहीं आयेगी। अधिवक्ता सुधांशु पाण्डेय ने प्रत्येक नागरिक को अपने संवैधानिक अधिकारों के प्रति सजग रहने पर बल दिया तथा उनके हनन अथवा आपराधिक उत्पीड़न की दशा में कानूनी उपचार की प्रक्रिया पर चर्चा किये।

कार्यक्रम में उपजिलाधिकारी फरेंदा ने विद्यार्थीयों को गांधी जी की आत्मकथा “सत्य के प्रयोग” पुस्तक तथा अन्य नागरिकों को ठण्ड से बचाव के लिए कंबल का वितरण माननीय न्यायाधीश द्वारा करवाये। कार्यक्रम का कुशल प्रबंधन श्रीराम सिंह परमहंस बालिका इण्टर कालेज के संचालक चन्द्रवीर सिंह, सुर्यवीर सिंह ने किया। कार्यक्रम में कोल्हुई के ग्राम प्रधान रामकेश प्रजापति, अनिल मिश्रा, डा° जीत बहादुर सिंह, अजीत सिंह, मनोज शुक्ला, दुर्गेश श्रीवास्तव, विवेक मिश्रा, कृपाशंकर मिश्रा, जितेन्द्र वर्मा इत्यादि भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: