हार्दिक पंड्या के फैसले से चढ़ा पारा, आखिरी ओवर में अक्षर पटेल ने पलट दिया मैच

6 पर 13 रन…, 5 पर 11 रन…, 3 पर 5 रन और फिर आखिरी गेंद पर 4 रन, भारत और श्रीलंका के बीच वानखेड़े में खेले गए पहले टी20 मैच में आखिरी ओवर का पारा ऐसे ही चढ़ा. श्रीलंका ने भी आखिरी ओवर में पूरा दम लगा दिया था, मगर अक्षर पटेल ने कमाल कर दिया. आखिरी गेंद पर मुकाबले का परिणाम ही बदल दिया. श्रीलंका के मुंह से जीत ही छीन ली, मगर एक कमाल हार्दिक पंड्या के फैसले का भी रहा.

दरअसल भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका को 163 रन का लक्ष्य दिया था. हालांकि श्रीलंका की शुरुआत बेहद खराब रही और 68 रन पर ही आधी टीम पवेलियन लौट गई. इसके बाद भी निर्धारित अंतराल पर श्रीलंका के विकेट गिरते रहे, मगर कप्तान दासुन शनाका के 45 रन, वानिंदु हसरंगा के 21 रन और चामिका करुणारत्ने के नाबाद 23 रन की बदौलत श्रीलंका ने मुकाबले में वापसी कर ली थी.

पंड्या का जोखिमभरा फैसला

आखिरी ओवर में श्रीलंका को 13 रन की जरूरत थी. दोनों खेमों में रणनीति फिर से बनने लगी थी. स्टेडियम का पारा भी चढ़ गया था. ऐसे में हार्दिक पंड्या के एक फैसले ने मुकाबले का पारा और चढ़ा दिया. आखिरी ओवर के लिए वो अक्षर पटेल का अटैक पर लाए. जिनका तीसरा ओवर था. उन्होंने शुरुआती 2 ओवर में काफी रन लुटाए थे. इसके बावजूद पंड्या ने पटेल पर भरोसा जताया. पटेल ने पहली गेंद वाइड फेंक दी और अगले गेंद पर रंजिता ने सिंगल ले लिया. ओवर की तीसरी गेंद पर करुणारत्ने ने छक्का जड़कर भारत की धड़कनें बढ़ा दी थी.

ये भी पढ़े-  दीपक हुड्डा और अक्षर पटेल की दहाड़, पीछे रह गया धोनी का 13 साल पुराना रिकॉर्ड

पंड्या और पटेल के बीच लंबी बातचीत

छक्के के बाद ईशान किशन, पंड्या और पटेल के बीच लंबी बातचीत हुई और इस बातचीत के बाद तो पूरा मुकाबला ही पलट गया. पटेल के ओवर की आखिरी 3 गेंदों के बाद श्रीलंका को जीत के लिए 5 रन की जरूरत थी. चौथी गेंद डॉट रही. 5वीं गेंद पर रंजिता रन आउट हो गए. इस विकेट के बाद श्रीलंका को जीत के लिए आखिरी गेंद पर 4 रन की जरूरत थी. पटेल पर हर किसी की नजर थी. एक चौका भारत के हाथ से मुकाबला छीन लेता. स्ट्राइक पर करुणारत्ने मौजूद थे और जो बड़ी बाउंड्री लगाने की तैयार खड़े थे.

आखिरी गेंद पर नहीं लगी बाउंड्री

आखिरी गेंद पर अक्षर पटेल ने उन्हें बाउंड्री लगाने का मौका ही नहीं दिया. उन्होंने डिप मिडविकेट की तरफ शॉट खेला और रन के लिए दौड़े. एक रन पूरा किया, मगर दूसरे रन की कोशिश में दिलशान मधुशंका रन आउट हो गए और इसी के साथ श्रीलंका की पूरी पारी ही 160 रन पर सिमट गई.

 

 

 

 

 

 

Source link

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: